0

Claim of UPPSC RO/ARO paper leaked, allegation of finding broken seal of question paper | EduCare न्यूज: UP RO/ARO के पेपर लीक होने का दावा, क्वेश्चन पेपर की सील टूटी मिलने का आरोप

  • February 12, 2024

  • Hindi News
  • Career
  • Claim Of UPPSC RO ARO Paper Leaked, Allegation Of Finding Broken Seal Of Question Paper

6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन (UPPSC) ने 11 फरवरी, 2024 को राज्य में समीक्षा अधिकारी (RO) और सहायक समीक्षा अधिकारी (ARO) की प्रीलिम्स परीक्षा आयोजित की। परीक्षा के फौरन बाद पेपर लीक होने की खबरें सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो

11 फरवरी की शाम तक सोशल मीडिया पर तमाम यूजर दावा करने लगे कि परीक्षा का पेपर कुछ जिलों में पहले से ही लीक हो गया था। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि परीक्षा से पहले ही RO/ARO एग्जाम 2024 का पेपर और सभी क्वेश्चन के आंसर लीक हो गए थे।

गाजीपुर में पहली पाली में क्वेश्चन पेपर का सील टूटी मिली

इस दौरान गाजीपुर में कुछ परिक्षार्थियों ने सुबह की पहली पाली में परीक्षा से पहले पेपर का सील टूटी होने की बात कहकर जमकर हंगामा करने लगे। कुछ परीक्षार्थी केंद्र के बाहर हंगामा करते परीक्षा की सूचिता को लेकर करने सड़क पर बैठने का प्रयास करने लगे। लेकिन मौके पर मौजूद थानाध्यक्ष राजेश बहादुर सिंह ने उन्हें रोक दिया। मौके पर पहुंचे एसडीएम आशुतोष कुमार ने समझाकर शांत कराया और परीक्षा शुरू कराई। युवकों के हंगामे का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

10 लाख से अधिक कैंडिडेट्स ने किया था एप्लिकेशन

UPPSC RO ARO 2024 परीक्षा, उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी परीक्षाओं में से एक है। इसके लिए भर्ती परीक्षा के लिए 10 लाख 69 हजार 725 कैंडिडेट्स ने एप्लिकेशन किया था।

परीक्षा में दो पेपर होते हैं

RO/ARO भर्ती परीक्षा में दो पेपर (दो पाली में) होते हैं। पहला पेपर जनरल नॉलेज (ऑब्जेक्टिव टाइप) का होता है, जो कुल 140 मार्क्स के लिए दो घंटे का एग्जाम होता है। वहीं दूसरा पेपर जनरल हिंदी का होता है। इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप 60 क्वेश्चन होते हैं, जिसके लिए 1 घंटा मिलता है। कुल मिलाकर दोनों पेपर में 200 सवाल होते है। हर सवाल 1 मार्क्स का होता है।

पिछले पाँच वर्षों में 16 राज्यों में हुए हैं पेपर लीक
हाल के वर्षों में देशभर की भर्ती परीक्षाओं में क्वेश्चन पेपर लीक होने के मामले बहुत बड़ी संख्या में सामने आए हैं। पिछले पाँच वर्षों में 16 राज्यों में पेपर लीक की कम-से-कम 48 घटनाएँ हुईं हैं, जिससे सरकारी नौकरियों की भर्ती प्रक्रिया बाधित हुई है। इससे लगभग 1.2 लाख पदों के लिये होने वाली भर्ती से कम-से-कम 1.51 करोड़ आवेदकों का जीवन प्रभावित हुआ है।

परीक्षा में गड़बड़‍ियों के लिए ‘लोक परीक्षा (कदाचार रोकथाम) विधेयक 2024’ लाया गया

बता दें कि केंद्र सरकार ने सरकारी भर्ती परीक्षाओं में पेपर लीक या नकल जैसी गड़बड़‍ियों पर लगाम लगाने के लिए 5 फरवरी को लोकसभा में ‘लोक परीक्षा (कदाचार रोकथाम) विधेयक 2024’ पेश किया। इस बिल में परीक्षाओं में गड़बड़ी करने वालों और संगठनों के लिए कम से कम 3 साल और अधिकतम 10 साल की जेल की सजा और 1 करोड़ रुपए तक के जुर्माने का प्रावधान है। हालांकि राज्य स्तर की परीक्षाएं इसमें नहीं शामिल हैं, जैसे – UPPSC RO ARO 2024 परीक्षा।

खबरें और भी हैं…

#Claim #UPPSC #ROARO #paper #leaked #allegation #finding #broken #seal #question #paper #EduCare #नयज #ROARO #क #पपर #लक #हन #क #दव #कवशचन #पपर #क #सल #टट #मलन #क #आरप