0

Curry leaves provide relief from constipation and diarrhea | करी पत्ता कब्ज, दस्त से राहत दिलाए: आंखों की रोशनी बढ़ाए, तनाव कम करे, शरीर में खून बढ़ाए; ज्यादा खाने पर एलर्जी

Share

मरजिया जाफर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

किचन में कई सारे मसाले होते हैं जो न सिर्फ खाने को टेस्टी बनाते हैं बल्कि सेहत के लिए फायदेमंद भी होते हैं। इनमें से एक है करी पत्ता जिसे मीठी नीम भी कहते हैं। इसके औषधीय गुणों और को देखते हुए जानजहान में डॉ. सुबास राय से करी पत्ता के फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं।

वजन कंट्रोल करे

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर ऑफ बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर मौजूद शोध की मानें तो करी पत्ते में डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन जैसे न्यूट्रिशन पाए जाते हैं जो वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और ट्राइग्लिसराइड लेवल को कंट्रोल करता है।

खून की कमी दूर करे

करी पत्ता एनीमिया जैसी परेशानी से राहत पाने में मददगार है। शोध की मानें तो करी पत्ते में एंटी एनीमिया गुण होते हैं, जो एनीमिया पर असरदार काम करता है। इसके अलावा करी पत्ता कैल्शियम, आयरन, जिंक और वैनेडियम जैसे खनिज पदार्थों का अच्छा सोर्स है।

शुगर कंट्रोल करे

करी पत्ता शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार है। बताया जाता है कि करी पत्ते में हाइपोग्लाइसेमिक यानी शुगर लेवल को कम करने वाला गुण पाया जाता है। यह गुण शरीर में शुगर की मात्रा को कम करने में सहायक है। इस वजह से करी पत्ता के फायदे डायबिटीज जैसे जोखिमों को कम करने में मददगार साबित होते हैं।

लिवर के लिए करी पत्ता के फायदे

करी पत्ते में टैनिन और कार्बाजोले एल्कलॉइड जैसे न्यूट्रिशन मौजूद हैं। इनमें हेपाटो प्रोटेक्टिव गुण पाए जाते हैं, जो लीवर को मजबूत बनाते हैं। हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसे जोखिमों को कम करने में भी सहायक होते हैं।

डायरिया से बचाव

करी पत्ते में पाए जाने वाले कार्बाजोले एल्कलॉइड्स में डायरिया से बचाव करने वाले गुण भी पाए जाते हैं। ऐसे में ये माना जा सकता है कि इसका नियमित सेवन डायरिया जैसी समस्या से निजात पाने में कारगर साबित हो सकता है।

दिल का रखें ख्याल

दिल को सेहतमंद रखने के लिए करी पत्ते के फायदे हैं। करी पत्ते का इस्तेमाल दिल से जुड़ी बीमारियों से बचाव करने में मददगार होता है। दिल से जुड़ी बीमारियों के इलाज लिए करी पत्ते का इस्तेमाल आयुर्वेदिक औषधि के रूप में लंबे समय से होता आया है।

इंफेक्शन से बचाव करे

करी पत्ता के फायदे और नुकसान की बात की जाए तो इंफेक्शन से बचाव में करी पत्ता मदद कर सकता है। करी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले न्यूट्रीशन एंटीबायोटिक और एंटीफंगल गुण भी पाए जाते हैं। इसमें पाए जाने वाले यही गुण बैक्टीरिया और फंगल प्रभाव को कम करने में फायदेमंद हैं।

सूजन से राहत दिलाए

करी पत्ता का इस्तेमाल कई तरह की दवाइयों को बनाने में किया जाता है। इसमें एंटी इंफ्लामेंटरी यानी सूजन को कम करने वाला गुण मौजूद होता है, जो सूजन से जुड़ी परेशानियों से कुछ हद तक राहत दे सकते हैं।

मॉर्निंग सिकनेस में करी पत्ता

प्रेग्नेंसी में उल्टी या मतली होने की वजह से मॉर्निंग सिकनेस होती है। गर्भावस्था में करी पत्ता का इस्तेमाल करने से उल्टी और मतली ठीक होती है। करी पत्ते और नींबू का रस में चीनी मिलाकर इस्तेमाल करने से मॉर्निंग सिकनेस को दूर किया जा सकता है।

स्किन को हेल्दी रखे करी पत्ता

स्किन की सेहत के लिए करी पत्ते के बहुत फायदे हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण की वजह से कई ब्यूटी प्रोडक्ट में इसका इस्तेमाल किया जाता है। यह ड्राई स्किन में जान भरने के साथ स्किन की रंगत में सुधार कर सकता है। करी पत्ता वाली क्रीम अल्ट्रा वायलेट रेज से स्किन को बचाती है।

बालों के लिए करी पत्ता

स्किन के साथ-साथ बालों के लिए भी करी पत्ता बेहतर है। करी पत्ते को नारियल के तेल में उबालकर स्कैल्प पर लगाने से बालों की टोन यानी उसकी रंगत को संवारने में मदद मिलती है। बालों की ग्रोथ में भी इजाफा होता है।

ऐसे करें करी पत्ते का इस्तेमाल

करी पत्ता का इस्तेमाल खाना बनाने के समय मसाले के रूप में कर सकते है। सब्जी, दाल, सांभर चावल का स्वाद बढाने के लिए इस्तेमाल करें

नारियल की चटनी में करी पत्ता मिलाकर भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे फ्राई करके फूड गार्निशिंग के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

करी पत्ते की पकौड़ी बनाकर खा सकते हैं।

करी पत्ते के नुकसान

करी पत्ते के वैसे तो कोई नुकसान नहीं देखे गए हैं, लेकिन कुछ जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने से इसका नुकसान भी है।

करी पत्ता के नुकसान की बात करें तो कुछ लोगों में इसके एलर्जिक इफेक्ट भी देखे जा सकते हैं। ऐसी स्थिति में कड़ी पत्ता का उपयोग बंद कर देना चाहिए।

करी पत्ता में हाइपोग्लाइसेमिक गुण होता है, जो डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है। अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से सामान्य ब्लड शुगर वालों में भी लो ब्लड शुगर की शिकायत हो सकती है।

करी पत्ते का पेस्ट या उसके तेल को लगाने से कुछ लोगों में जलन की शिकायत हो सकती है।

करी पत्ता बेनिफिट्स से जुड़े इस लेख को पढ़कर कड़ी पत्ता के फायदे और नुकसान से अच्छी तरह परिचित हो गए होंगे। हालांकि, करी पत्ता के नुकसान बेहद अधिक नहीं हैं।

खबरें और भी हैं…

  • पुदीना का तेल पाचन शक्ति सुधारे: सिरदर्द मिटाए, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करे, तनाव दूर भगाए, कूल बनाए; ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल न करें

    सिरदर्द मिटाए, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करे, तनाव दूर भगाए, कूल बनाए; ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल न करें|वुमन,Women - Dainik Bhaskar
    • कॉपी लिंक

    शेयर

  • नाखून में लगी फफूंद का घरेलू इलाज: नारियल, अजवाइन, एलोवेरा जेल से मिलेगी राहत; नाखून चबाने, क्यूटिकल काटने से बचें

    नारियल, अजवाइन, एलोवेरा जेल से मिलेगी राहत; नाखून चबाने, क्यूटिकल काटने से बचें|वुमन,Women - Dainik Bhaskar
    • कॉपी लिंक

    शेयर

  • पेट दर्द कब बनता खतरे की घंटी: लिवर इंफेक्शन, आंतों की टीबी, किडनी-गॉलब्लैडर में पथरी हो सकती है वजह, इनके लक्षणों को पहचानें

    लिवर इंफेक्शन, आंतों की टीबी, किडनी-गॉलब्लैडर में पथरी हो सकती है वजह, इनके लक्षणों को पहचानें|वुमन,Women - Dainik Bhaskar
    • कॉपी लिंक

    शेयर

  • ये नमक बीमारियों से बचाता है: गैस, ब्लोटिंग, सूजन, इन्फेक्शन से राहत पाएं, सिलबट्टे पर पीसकर बनाएं पहाड़ी नमक ‘पिस्यु लूण’

    गैस, ब्लोटिंग, सूजन, इन्फेक्शन से राहत पाएं, सिलबट्टे पर पीसकर बनाएं पहाड़ी नमक 'पिस्यु लूण'|वुमन,Women - Dainik Bhaskar
    • कॉपी लिंक

    शेयर

#Curry #leaves #provide #relief #constipation #diarrhea #कर #पतत #कबज #दसत #स #रहत #दलए #आख #क #रशन #बढ़ए #तनव #कम #कर #शरर #म #खन #बढए #जयद #खन #पर #एलरज