0

JSW Group will manufacture electric vehicles and EV components in Odisha | ओडिशा में इलेक्ट्रिक कार और ईवी कंपोनेंट्स बनाएगा JSW ग्रुप: ₹40,000 करोड़ का निवेश कर प्लांट लगाएगी कंपनी, 11,000 लोगों को मिलेगा रोजगार

  • February 10, 2024

नई दिल्ली57 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जिंदल स्टील वर्ल्ड यानी JSW ग्रुप ओडिशा में इलेक्ट्रिक कार, ईवी बैटरी और कंपोनेंट्स की मैन्युफैक्चरिंग करेगी। इसके लिए कंपनी ने आज यानी 10 फरवरी को राज्य सरकार के साथ डील (MOU) साइन की है। कंपनी इलेक्ट्रिक व्हीकल और ईवी बैटरी की मैन्युफैक्चरिंग के लिए एक प्लांट कटक में लगाएगी।

वहीं, दूसरा प्लांट इलेक्ट्रिक व्हीकल से संबंधित कंपोनेंट्स के लिए पारादीप में डेवलप करेगी। दोनों प्लांट के लिए कंपनी राज्य में 40,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इनमें से 25,000 करोड़ रुपए का निवेश कटक प्लांट के लिए किया जाएगा। वहीं, 15,000 करोड़ रुपए का निवेश पारादीप में किया जाएगा।

शनिवार को ईवी प्लांट का डमी मॉडल देखते हुए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और JSW के अधिकारी।

शनिवार को ईवी प्लांट का डमी मॉडल देखते हुए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और JSW के अधिकारी।

50 गीगावॉट का ईवी बैटरी प्लांट लगाया जाएगा
JSW ग्रुप ने बताया कि यह इनवेस्टमेंट दो चरण में किया जाएगा। साथ ही कहा कि वह गुजरात और तमिलनाडु की तरह ओडिशा में EV निर्माण का पूरा इकोसिस्टम तैयार करेगी। JSW ग्रुप ने बताया कि इस प्रोजेक्ट में एडवांस टेक्नोलॉजी की मदद से तैयार होने वाले 50 गीगावॉट का ईवी बैटरी प्लांट लगाया जाएगा। इसमें कमर्शियल और सवारी इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरियां तैयार होंगी। इसके अलावा यहां इलेक्ट्रिक व्हीकल, लिथियम रिफाइनरी, कॉपर स्मेल्टर और ईवी से संबंधित कंपोनेंट्स की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट तैयार की जाएगी।

11 हजार लोगों को नौकरी मिलने का अनुमान
इस प्रोजेक्ट से 11,000 से अधिक लोगों को नौकरी मिलने का अनुमान है। ग्रुप ने बताया कि कटक में 4,000 और पारादीप में 7,000 रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है। इस प्रोजेक्ट के जरिए आसापास सपोर्टिंग सर्विस के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। यह MSME डेवलपमेंट को बढ़ावा देगा, ऑटो कंपोनेंट सप्लाई चेन और सर्विस सेक्टर में ढेर सारे जॉब्स के अवसर खोलेगा।

MG मोटर इंडिया के साथ मिलकर कार बनाएगी JSW
कंपनी ने कुछ दिन पहले ही MG मोटर इंडिया के स्वामित्व वाली SAIC मोटर कॉर्प के साथ एक ज्वाइंट वेंचर का ऐलान किया था। यह ज्वाइंट वेंचर खास तौर पर इलेक्ट्रिक वाहनों पर काम करेगा। JSW एक करोड़ टन सालाना स्टील प्रोड्यूज करने वाली भारत की पहली कंपनी है। MG मोटर एक ब्रिटिश ब्रांड है जिसे चीन की कंपनी SAIC मोटर ने अधिग्रहित कर लिया था।

45-48% हिस्सेदारी भारतीयों के पास रहेगी
MG मोटर इंडिया में जिंदल का स्वामित्व लगभग 45-48% होगा, जबकि डीलरों और भारतीय कर्मचारियों के पास 5-8% होने की संभावना है। बाकी बची हिस्सेदारी शंघाई ऑटोमोटिव इंडस्ट्री कॉर्पोरेशन यानी SAIC के पास रहेगी। MG मोटर इंडिया SAIC मोटर की भारतीय ब्रांच है, जिसका मुख्यालय चीन के शंघाई में है। SAIC चाइनीज ऑटोमोबाइल मेकर है।

भारत में हाई-परफॉरमेंस इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाएगी JSW
JSW भारतीय बाजार में हाई-परफॉरमेंस इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने की योजना बना रही है। जनवरी में यह जानकारी सज्जन जिंदल ने एक मीडिया हाउस से बातचीत के दौरान दी थी। कंपनी इसके लिए चाइनीज कंपनी BYD से भी हिस्सेदारी के लिए बात कर रही है।

JSW इन इलेक्ट्रिक गाड़ियों को यूरोप में भी पेश करेगी। JSW के पास मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं है, ऐसे में कई रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया जा रहा है कि कंपनी MG इंडिया प्लांट्स में इन गाड़ियों का प्रोडक्शन करेगी।

2020 में ही इलेक्ट्रिक गाड़ी लॉन्च करने वाली थी JSW
JSW 2020 में ही अपनी पहली इलेक्ट्रिक गाड़ी को लॉन्च करने वाली थी। इसके लिए कंपनी ने लगभग 3,500 से 4,000 करोड़ रुपए निवेश करने की योजना भी बनाई थी। कंपनी महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की योजना बना चुकी थी। हालांकि, कोरोना महामारी और भारत-चीन के बीच सीमा विवाद के कारण बात आगे नहीं बढ़ पाई थी।

SAIC ने भारत में 5 हजार करोड़ रुपए निवेश किए
SAIC ने भारत में लगभग 5 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया है और इतना ही निवेश करने के लिए तैयार है। हालांकि, भारतीय कंपनी के साथ एग्रीमेंट में हुई देरी के कारण MG मोटर ने भारत में अपने ऑपरेशन्स को बनाए रखने के लिए अपनी मूल कंपनी से उधार लिया है।

खबरें और भी हैं…

#JSW #Group #manufacture #electric #vehicles #components #Odisha #ओडश #म #इलकटरक #कर #और #ईव #कपनटस #बनएग #JSW #गरप #करड #क #नवश #कर #पलट #लगएग #कपन #लग #क #मलग #रजगर