0

Polar Bear Key Picture Becomes Photograph of the Year; National Science Day 2024 Key Theme Released | करेंट अफेयर्स 08 फरवरी: पोलर बीअर की तस्वीर बनी फोटोग्राफ ऑफ द ईयर; राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 की थीम जारी

  • Hindi News
  • Career
  • Polar Bear Key Picture Becomes Photograph Of The Year; National Science Day 2024 Key Theme Released

38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज लोकसभा में “श्वेत पत्र” पेश किया। डॉ. जितेंद्र सिंह ने “राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 की थीम” जारी की। वहीं, पोलर बीयर की तस्वीर खींचने वाले ‘नीमा सरीखानी’ को मिला वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर पीपुल्स च्वाइस अवार्ड।

आइए आज के ऐसे ही प्रमुख करेंट अफेयर्स पर नजर डालते हैं, जो सरकारी नौकरियों की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स के लिए अहम हैं…

नेशनल (NATIONAL)

1. लोकसभा में पेश हुआ श्वेत पत्र : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज यानी 8 फरवरी को लोकसभा में श्वेत पत्र पेश किया। 59 पेज के श्वेत पत्र में 2014 से पहले और 2014 के बाद की भारतीय अर्थव्यवस्था की जानकारी दी गई है।

श्वेत पत्र में बताया गया है कि किस तरह UPA सरकार के दस सालों में इकोनॉमी मिस मैनेजमेंट का नुकसान भारत को झेलना पड़ा।

श्वेत पत्र में बताया गया है कि किस तरह UPA सरकार के दस सालों में इकोनॉमी मिस मैनेजमेंट का नुकसान भारत को झेलना पड़ा।

  • श्वेत पत्र का मकसद मनमोहन सिंह सरकार बनाम नरेंद्र मोदी सरकार के समय आर्थिक हालात की तुलना करना है।
  • इसके जरिए ये दिखाया गया है कि कैसे सरकार ने PM मोदी के नेतृत्व में देश को आर्थिक बदहाली से बाहर निकाला।
  • श्वेत पत्र यानी वाइट पेपर एक रिपोर्ट, गाइड, रिसर्च बेस्ड पेपर या औपचारिक सरकारी दस्तावेज होता है।
  • यह किसी विषय या समस्या के समाधान, नीति प्रस्तावों के बारे में एक्सपर्ट के एनालिसिस के आधार पर पेश किया जाता है।
  • ये सफेद कवर में बंधा होता है, इसी कारण से इसे श्वेत पत्र कहा जाता है।
  • दुनिया का पहला श्वेत पत्र ब्रिटेन में लाया गया था, जिसके बाद गुलाम और आजाद भारत में भी श्वेत पत्र लाए गए।
  • ब्रिटिश PM विंस्टन चर्चिल ने जून 1922 में फिलिस्तीन मामलों पर दुनिया का पहला श्वेत पत्र जारी किया था।
  • इसमें ब्रिटिश सरकार ने अपने अधीन लेकर फिलिस्तीन के भविष्य पर अपनी नीति स्पष्ट की थी।
  • 90 के दशक से व्यापारिक कंपनियों ने भी अपने व्यापार और मार्केटिंग के लिए श्वेत पत्र लाना शुरू कर दिया है।

साइंस और टेक्नोलॉजी (SCIENCE & TECHNOLOGY)

2. राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 के लिए थीम जारी : केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी डॉ. जितेंद्र सिंह ने 6 फरवरी को “राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024″ की थीम जारी की है। इस साल की थीम “विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक (Indigenous Technologies for Viksit Bharat)” है।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का पदभार संभाला है क्योंकि मंत्रालयों को प्रधानमंत्री कार्यालय के प्रभार में शामिल किया गया था।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का पदभार संभाला है क्योंकि मंत्रालयों को प्रधानमंत्री कार्यालय के प्रभार में शामिल किया गया था।

  • इस साल की थीम साइंस, टेक्नोलॉजी, इनोवेशन और इंडियन साइंटिस्ट की उपलब्धियों के लिए सार्वजनिक प्रशंसा (पब्लिक एप्रिसिएशन) को बढ़ावा देने पर फोकस्ड है।
  • इसके अलावा, यह थीम ओवरआल वेलबीइंग के लिए होम ग्रोन टेक्नोलॉजी के जरिए चुनौतियों का समाधान करने पर भी फोकस्ड है।
  • हर साल 28 फरवरी को ‘रमन प्रभाव’ की खोज के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (NSD) मनाया जाता है।
  • इस दिन सर सी.वी. रमन ने ‘रमन प्रभाव’ की खोज की घोषणा की थी, जिसके लिए उन्हें 1930 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • भारत सरकार ने 1986 में 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (NSD) के रूप में नामित किया था।
  • इस अवसर पर थीम-आधारित साइंस से जुड़ी एक्टिविटीज पूरे देश में चलाई जाती हैं।
  • थीम लॉन्च के साथ ही पूरे देश में विशेष रूप से स्कूलों और कॉलेजों में NSD का जश्न मानना शुरू हो जाता है।
  • इंडिया, वैज्ञानिक अनुसंधान प्रकाशनों (Scientific Research Publications) में विश्व स्तर पर शीर्ष पांच देशों में से एक हैं।
  • ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (GII) में 2015 में 81 रैंक से उल्लेखनीय वृद्धि दिखाते हुए आज 40 वें स्थान पर हैं।
  • पेटेंट फाइलिंग 90,000 को पार कर गई है जो दो दशकों में सबसे अधिक है।

कार्यक्रम (PROGRAM)

3. मोबाइल स्वास्थ्य सेवा ‘किलकारी’ और मोबाइल अकादमी का शुभारंभ : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल और डॉ. भारती प्रवीण पवार ने 7 फरवरी को किलकारी कार्यक्रम को वर्चुअली लॉन्च किया। यह गुजरात और महाराष्ट्र में स्थानीय लाभार्थियों के लिए एक मोबाइल स्वास्थ्य (M-Health) पहल है।

इस दौरान निःशुल्क ऑडियो ट्रेनिंग कोर्स 'मोबाइल अकादमी' को भी लॉन्च किया गया।

इस दौरान निःशुल्क ऑडियो ट्रेनिंग कोर्स ‘मोबाइल अकादमी’ को भी लॉन्च किया गया।

  • किलकारी का अर्थ है ‘एक बच्चे की गूंज’ है।
  • यह एक सेंट्रलाइज इंटरैक्टिव वॉयस रिस्पॉन्स (IVR) पर आधारित मोबाइल स्वास्थ्य सेवा है।
  • यह गर्भावस्था के तीन महीने के बाद से लेकर बच्चे के एक वर्ष का होने तक गर्भावस्था, प्रसव और बच्चे की देखभाल के बारे में मुफ्त, साप्ताहिक, समय-उपयुक्त 72 ऑडियो संदेश सीधे परिवारों के मोबाइल फोन पर पहुंचाती है।
  • ऐसी महिलाएं जो प्रजनन बाल स्वास्थ्य (IVR) पोर्टल में रजिस्टर्ड हैं, उनके मोबाइल फोन पर सीधे पूर्व-रिकॉर्ड की गई ऑडियो सामग्री के साथ एक साप्ताहिक कॉल प्राप्त होती है।
  • किलकारी ऑडियो संदेश डॉ. अनीता नामक एक काल्पनिक डॉक्टर चरित्र की आवाज के रूप में मौजूद हैं।
  • किलकारी कार्यक्रम सभी राज्यों या केंद्रशासित प्रदेशों के लिए केंद्रीय रूप से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जाता है।
  • इसके लिए राज्यों या केंद्रशासित प्रदेशों को टेक्नोलॉजी, टेलीफोनिक इंन्फ्रास्ट्रक्चर या ऑपरेशन में कोई एडिशनल इंवेस्टमेंट करने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • वर्तमान में मोबाइल अकादमी 6 भाषाओं हिंदी, भोजपुरी, उड़िया, असमिया, बंगाली और तेलुगु में चंडीगढ़ को छोड़कर 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शुरू है।

अवार्ड (AWARD)

4. पोलर बीयर की तस्वीर खींचने वाले को मिला वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर पीपुल्स च्वाइस अवार्ड : 7 फरवरी को बर्फ के टुकड़े पर सोते हुए पोलर बीयर (ध्रुवीय भालू) की तस्वीर को वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर ऑफ द ईयर पीपुल्स च्वाइस अवार्ड 2023 मिला है। इस तस्वीर की कैप्चर करने वाले विजेता का नाम नीमा सरीखानी है।

नीमा सरीखानी ने नॉर्वेजियन द्वीपों पर तीन दिनों तक पोलर बीयर की खोज करने के बाद ये तस्वीर को कैप्चर की।

नीमा सरीखानी ने नॉर्वेजियन द्वीपों पर तीन दिनों तक पोलर बीयर की खोज करने के बाद ये तस्वीर को कैप्चर की।

  • हर साल यह फोटोग्राफी कंपटीशन नेचुलर हिस्ट्री म्यूजियम के जरिए आयोजित की जाती है।
  • पोलर बीयर वाली तस्वीर का नाम ‘आइस बेड’ दिया गया है।
  • सारीखानी ने अपनी तस्वीर को रिकॉर्ड 75,000 लोगों ने वोट किया।
  • ऑर्गनाइजेशन ने कंपटीशन में टॉप पोजिशन रखने वाली तस्वीरों के बारे में एक ब्लॉग भी शेयर किया है।

रैंकिंग (RANKING)

5. विश्व बैंक ने लॉजिस्टिक्स परफॉर्मेंस इंडेक्स रिपोर्ट 2023 जारी की : विश्व बैंक ने 7 फरवरी को ‘लॉजिस्टिक्स परफॉर्मेंस इंडेक्स रिपोर्ट (2023): कनेक्टिंग टू कॉम्पिटिशन 2023’ रिपोर्ट जारी की। इसके अनुसार, भारत 139 देशों में से 38वें स्थान पर है।

लॉजिस्टिक्स परफॉर्मेंस इंडेक्स, विश्व बैंक समूह द्वारा विकसित एक इंटरैक्टिव बेंचमार्किंग टूल है।

लॉजिस्टिक्स परफॉर्मेंस इंडेक्स, विश्व बैंक समूह द्वारा विकसित एक इंटरैक्टिव बेंचमार्किंग टूल है।

  • LPI 2023 रिपोर्ट के अनुसार, भारत की रैंक में 2018 में 44 से छह स्थान और 2014 में 54 से 16 स्थान का सुधार हुआ है।
  • यह देशों को व्यापार लॉजिस्टिक के प्रदर्शन में आने वाली चुनौतियों और अवसरों की पहचान करने में मदद करता है।
  • यह विश्वसनीय आपूर्ति शृंखला कड़ियों और इसे सक्षम करने वाले मूलभूत घटकों को स्थापित करने की सुलभता का आकलन करता है।

लॉजिस्टिक की प्रभावशीलता के आकलन के 6 कारक :

  1. कस्टम और बॉर्डर मैनेजमेंट क्लियरेंस की एफिसिएंसी।
  2. ट्रेड और ट्रांसपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर की क्वालिटी।
  3. कॉम्पीटिटिवली प्राइस्ड शिपमेंट को अरेंज करने की सुविधा
  4. लॉजिस्टिक्स सर्विसेस की क्षमता और गुणवत्ता (ट्रकिंग, फॉरवार्डिंग, और कस्टम्स ब्रोकरेज)।
  5. माल को ट्रैक और ट्रेस करने की क्षमता।
  6. स्केड्यूल या अपेक्षित डिलिवरी टाइम के भीतर भेजी जाने वाली शिपमेंट्स की फ्रीक्वेंसी।

इंटरनेशनल (INTERNATIONAL)

6. नासा ने एक नए ग्रह सुपर अर्थ की खोज की : अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक सुपर अर्थ नाम के प्लैनेट की एक खोज की है। यह पृथ्वी से 137 लाइट ईयर दूर स्थित है। नासा ने इस ग्रह को TOI-715b नाम दिया गया है।

नासा के अनुसार, इस ग्रह पर जीवन संभव हो सकता है और इसकी सतह पर पानी हो सकता है।

नासा के अनुसार, इस ग्रह पर जीवन संभव हो सकता है और इसकी सतह पर पानी हो सकता है।

  • यह ग्रह पृथ्वी से लगभग डेढ़ गुना बड़ा है और पृथ्वी के आकार का दूसरा ग्रह भी हो सकता है।
  • यदि इस ग्रह के अस्तित्व की पुष्टि हो जाती है, तो यह ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट द्वारा खोजा गया सबसे छोटा रहने योग्य क्षेत्र वाला ग्रह होगा।
  • ग्रह की वेब टेलीस्कोप के जरिए बारीकी से जांच की जा रही है, साथ ही वहां किस तरह का वातावरण है उसका भी पता किया जा रहा है।
  • नासा (NASA) का पूरा नाम ‘नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन’ है।
  • इसकी स्थापना ड्वाइट डी. आइजनहावर ने 29 जुलाई, 1958 को संयुक्त राज्य अमेरिका में की थी।
  • इसका हेडक्वार्टर वाशिंगटन डी.सी. में है।
  • नासा अमेरिकी फेडरल गवर्नमेंट की इंडिपेंडेट एजेंसी है।
  • यह सिविल स्पेस प्रोग्राम, एयरोनॉटिक्स रिसर्च और स्पेस रिसर्च के लिए जिम्मेदार है।

आज का इतिहास (TODAY’S HISTORY)

8 फरवरी का इतिहास :

1941 में आज के दिन गजलों के जादूगर जगजीत सिंह का जन्म हुआ था। राजस्थान के गंगानगर से ताल्लुक रखने वाले जगजीत सिंह का असली नाम जगमोहन सिंह धीमान था। 2003 में इन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। राजस्थान सरकार ने 1998 में साहित्य कला अकादमी पुरस्कार और 2012 में मरणोपरांत राज्य का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, राजस्थान रत्न दिया।

  • 1897 – डॉ. जाकिर हुसैन (भारत के तीसरे राष्ट्रपति) का जन्म हुआ था।
  • 1979 – अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया था।
  • 1986 – दिल्ली हवाई अड्डे पर पहली बार प्रीपेड टैक्सी सेवा शुरु की गई थी।
  • 2007 – भूटान नरेश की पहली भारतीय यात्रा हुई थी।
  • 2008 – उड़ीसा के शिशुपालगढ़ में खुदाई के दौरान 2500 वर्ष पुराना शहर मिला था।

खबरें और भी हैं…

#Polar #Bear #Key #Picture #Photograph #Year #National #Science #Day #Key #Theme #Released #करट #अफयरस #फरवर #पलर #बअर #क #तसवर #बन #फटगरफ #ऑफ #द #ईयर #रषटरय #वजञन #दवस #क #थम #जर