0

Singapore tribunal rejects Sony’s plea against Zee | सिंगापुर-ट्रिब्यूनल ने जी के खिलाफ सोनी की याचिका खारिज की: कहा- उसके पास जी को NCLT में जाने से रोकने का अधिकार नहीं

नई दिल्ली11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिंगापुर की आर्बिट्रेशन ट्रिब्यूनल (SIAC) ने जी के खिलाफ सोनी की याचिका को खारिज कर दिया है। याचिका में सोनी ने 10 अरब डॉलर की मर्जर डील को कैंसिल करने के बाद भारत में अदालती कार्यवाही पर रोक लगाने की मांग की थी।

सोनी ने कहा कि वह सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर (एसआईएसी) के फैसले से “निराश” है। ये अदालती कार्यवाही पुनित गोयनका के नेतृत्व वाली जी और मैड मेन फिल्म वेंचर्स ने शुरू की है। मैड मेन फिल्म वेंचर्स जी का शेयरधारक है।

इसमें नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल से मांग की गई है कि वो सोनी को विलय करने का निर्देश दें। दिसंबर 2021 में जी और सोनी ने मर्जर के लिए एग्रीमेंट साइन किया था। सोनी ने मर्जर खत्म करने के लिए जी को 22 जनवरी को डील कैंसिल करने का लेटर भेजा था।

SIAC के पास जी को NCLT में जाने से रोकने का अधिकार नहीं
सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर ने कहा कि उसके पास जी को NCLT में जाने से रोकने का कोई अधिकार क्षेत्र या अधिकार नहीं है क्योंकि विलय स्थानीय न्यायाधिकरण के दायरे में आता है। सिंगापुर में सोनी का आवेदन इमरजेंसी अर्बिट्रेशन प्रोसीजर के तहत दायर किया गया था।

सोनी नहीं चाहता था, पुनीत गोयनका CEO बनें इसलिए डील कैंसिल की
2021 में जब एग्रीमेंट साइन किया गया था, तब यह तय हुआ था कि पुनीत गोयनका मर्जर के बाद बनी नई कंपनी को लीड करेंगे। पुनीत गोयनका जी ग्रुप के फाउंडर सुभाष च्रंदा के बेटे और जी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर हैं।

हालांकि, बाद में शेयर मार्केट को रेगुलेट करने वाली संस्था सेबी की जांच के कारण सोनी ने गोयनका को CEO बनाने से मना कर दिया। सोनी अपने भारत के मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO NP सिंह को नई कंपनी का CEO बनाने की वकालत कर रहा था।

सोनी ने कहा था- 2 साल तक चला नेगोशिएशन, मर्जर नहीं होने से निराश
सोनी की ओर से इस मामले को लेकर बयान जारी करते हुए कहा था कि हम 21 जनवरी की समय सीमा तक मर्जर पर सहमत नहीं हो सके। 2 साल तक चले नेगोशिएशन के बाद मर्जर नहीं होने से हम बेहद निराश हैं। हम इस तेजी से बढ़ने वाले मार्केट में अपनी उपस्थिति बढ़ाने और दर्शकों को वर्ल्ड क्लास एंटरटेनमेंट देने के लिए कमिटेड हैं।

सोनी के 16 एंटरटेनमेंट और 10 स्पोर्ट्स चैनल
सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया टेलीविजन चैनल ऑपरेट करती है। इसके 16 एंटरटेनमेंट चैनल और 10 स्पोर्ट्स चैनल है। 1995 में इसने भारत में अपनी पहला चैनल लॉन्च किया था। इसका एक डिजिटल प्लेटफॉर्म सोनी लिव भी है।

सोनी नेटवर्क्स इंडिया का नाम अब कल्वर मैक्स एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड हो गया है। यह जापान की कंपनी सोनी ग्रुप कॉर्पोरेशन की सहायक कंपनी है। कंपनी की 167 देशों में रीच है।

जी के देश में 50 चैनल, 40+ इंटरनेशनल चैनल भी चलाती है
जी ग्लोबल कंटेंट कंपनी है, जो देश में 50 चैनल चलाती है। इसमें हिंदी जनरल एंटरटेनमेंट चैनल, रीजनल एंटरटेनमेंट चैनल, हिंदी मूवी चैनल और अन्य चैनल शामिल हैं। इसके साथ ही कंपनी 120 देशों में 40 से अधिक चैनल चलाती है। इसका एक डिजिटल प्लेटफॉर्म जी5 भी है। जी ने अपना पहला चैनल जी टीवी 1992 में लॉन्च किया था।

खबरें और भी हैं…

#Singapore #tribunal #rejects #Sonys #plea #Zee #सगपरटरबयनल #न #ज #क #खलफ #सन #क #यचक #खरज #क #कह #उसक #पस #ज #क #NCLT #म #जन #स #रकन #क #अधकर #नह