0

Soumya Pandey Success Story; India Australia Under-19 World Cup Final | भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताएगा जूनियर जडेजा: ​​​​​​​बैटर बनना चाहते थे सौम्य, कोच ने स्पिनर गेंदबाजी की सलाह दी

  • February 11, 2024

सीधी/भोपाल44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सौम्य पांडेय ने अंडर-19 वर्ल्ड कप में 17 विकेट लिए हैं। वे इंडिया के टॉप विकेटटेकर हैं। - Dainik Bhaskar

सौम्य पांडेय ने अंडर-19 वर्ल्ड कप में 17 विकेट लिए हैं। वे इंडिया के टॉप विकेटटेकर हैं।

भारतीय जूनियर टीम रविवार को ऑस्ट्रेलिया से अंडर-19 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच खेलने जा रही है। यह मैच बेनोनी के विलोमूर पार्क में दोपहर 1:30 बजे से खेला जाएगा।

भारतीय फैंस की नजरें कप्तान उदय सहारन के साथ उपकप्तान सौम्य पांडेय पर भी होंगी। उदय टूर्नामेंट के टॉप स्कोरर हैं, जबकि सौम्य भारत के टॉप विकेटटेकर हैं। सौम्य के प्रदर्शन से प्रभावित क्रिकेट एक्सपर्ट भविष्य का रवींद्र जडेजा बता रहे हैं। इस लेफ्टी स्पिनर ने 6 मैचों में 17 विकेट चटकाए हैं।

फाइनल से पहले दैनिक भास्कर में सौम्य पांडेय की कहानी, उनके कोच एरियल एंटोनी की जुबानी…

माता-पिता डॉक्टर बनाना चाहते थे, बेटा क्रिकेटर बना
मध्यप्रदेश के सीधी जिले के भरतपुर गांव के रहने वाले सौम्य पांडेय के माता-पिता टीचर हैं। वे अपने बेटे को डॉक्टर बनाना चाहते थे, लेकिन बेटे का रुझान क्रिकेट की ओर था। ऐसे में वे अपने बेटे को रीवा में संचालित क्रिकेट अकादमी में लेकर आए। सौम्य ने 8 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया। कोच एरियल एंटोनी बातते हैं कि परिजन उसे डॉक्टर बनाना चाहते थे, लेकिन सौम्य क्रिकेट खेलना चाहता था।

सौम्य अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत के टॉप विकेट टेकर हैं। उनके नाम 17 विकेट हैं।

सौम्य अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत के टॉप विकेट टेकर हैं। उनके नाम 17 विकेट हैं।

बैटिंग करना चाहते थे सौम्य, कोच ने स्पिन बॉलिंग की सलाह दी
कोच एंटोनी कहते हैं कि जब सौम्य मेरे पास आया था, तब उसका रुझान बैटिंग की ओर था। उसने मुझसे कहा कि मैं बैटर बनना चाहता हूं, लेकिन मैंने उसे स्पिन गेंदबाजी करने को कहा। समय के साथ उसके प्रदर्शन में निखार आने लगा।

सौम्य 14 साल की उम्र में रीवा डिवीजन के अंडर 14 क्रिकेट टीम में शामिल हुए और बाद में मप्र अंडर-14 टीम के कप्तान बने।

अब तक के विकेट से खुश नहीं, ऑस्ट्रेलिया के विकेट लेगा तो खुशी होगी : कोच
सौम्य के वर्ल्ड कप प्रदर्शन पर कोच कहते हैं कि उसने टूर्नामेंट की शुरुआत में कुछ विकेट निकाले हैं। लेकिन वे छोटी टीमों के विकेट हैं। इससे मुझे ज्यादा खुशी नहीं हुई। मैंने उससे कहा कि बड़ी टीमों के विकेट निकालो। यदि वह फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के विकेट निकालता है, तो मुझे खुशी होगी।

IPL कॉल आया तो मैंने वर्ल्ड कप में फोकस करने को कहा: एरियल
सौम्य से आखिरी बातचीत के सवाल पर एंटोनी कहते हैं कि कुछ दिन पहले ही बात हुई थी। तब उसके बाद एक IPL फ्रेंचाइजी से कॉल आया था। वही बताने के लिए सौम्य ने मुझे कॉल किया था, लेकिन मैंने कहा कि अभी वर्ल्ड कप खेल रहे हो तो उसी पर फोकस करो। वापस आने के बाद IPL पर बात करेंगें।

बहन के साथ रीवा में रहकर तैयारी की कोच बताते हैं कि सौम्य रीवा में बहन के साथ रहकर केंद्रीय विद्यालय में पढ़ते थे। बचपन से क्रिकेट खेलने का शौक था। उसके माता-पिता उसे डॉक्टर बनाना चाहते थे। बाद में सौम्य की जिद से हारकर उसे मेरे पास लेकर आए।

खबरें और भी हैं…

#Soumya #Pandey #Success #Story #India #Australia #Under19 #World #Cup #Final #भरत #क #अडर19 #वरलड #कप #जतएग #जनयर #जडज #बटर #बनन #चहत #थ #समय #कच #न #सपनर #गदबज #क #सलह #द